Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 #
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
dark mode

12263/64 Pune - H. Nizamuddin AC Duronto - यह है पुणेकर वालों की राजधानी जिसका speed है सबसे Great, नहीं पहुंची है अब तक अपने लक्ष्य स्थान पर Late. - Sahil Khandare

Full Site Search
  Full Site Search  
FmT LIVE - Follow my Trip with me... LIVE
 
Sat Jul 2 21:56:49 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips
Login
Advanced Search
Page#    461709 news entries  next>>
Today (21:15) 12 साल से प्रस्तावित सवाई माधोपुर-झांसी रेल लाइन, जुड़ने से तीन राज्यों को मिलेगा लाभ (www.naidunia.com)
IR Affairs
NCR/North Central
0 Followers
945 views

News Entry# 491159  Blog Entry# 5399043   
  Past Edits
Jul 02 2022 (21:16)
Station Tag: Shivpur Halt/SVPH removed by Adittyaa Sharma/1421836

Jul 02 2022 (21:15)
Station Tag: Shivpuri/SVPI added by Adittyaa Sharma/1421836

Jul 02 2022 (21:15)
Station Tag: Kota Junction/KOTA added by Adittyaa Sharma/1421836

Jul 02 2022 (21:15)
Station Tag: Sawai Madhopur Junction/SWM added by Adittyaa Sharma/1421836

Jul 02 2022 (21:15)
Station Tag: Sheopur Kalan/SOE added by Adittyaa Sharma/1421836

Jul 02 2022 (21:15)
Station Tag: Shivpur Halt/SVPH added by Adittyaa Sharma/1421836

Jul 02 2022 (21:15)
Station Tag: Gwalior Junction/GWL added by Adittyaa Sharma/1421836
करैरा (नईदुनिया न्यूज)।
ग्वालियर-श्योपुर ब्राडगेज प्रोजेक्ट में गति देने के साथ ही क्षेत्र के लोगों को सवाई माधोपुर-श्योपुर-शिवुपरी-झांसी नई रेलवे लाइन की स्वीकृति की काफी उम्मीदें हैं। 12 साल से यह प्रोजेक्ट अटका हुआ है। वर्ष 2010 में तत्कालीन रेल मंत्री ममता बैनर्जी द्वारा इसके लिए स्वीकृति दी गई थी जिसके बाद 2015 में सर्वे का काम भी हो गया। कई दिग्गजों ने इस मुद्दे को उठाया, लेकिन अब तक काम चालू नहीं हो पाया। इस रेलवे लाइन के लिए पूर्व प्रधानमंत्री स्व. अटल बिहारी बाजपेई, स्व. राजमाता सिंधिया सहित पूर्व रेल मंत्री स्व. माधवराव सिंधिया आवाज उठा चुके हैं। इस लाइन के चालू होने से दो राज्य की राजधानी जयपुर और लखनऊ जुड़ जाएंगे जो व्यापार की दृष्टि से बहुत
...
more...
लाभदायक होगा। इसके साथ ही इससे ग्वालियर, शिवपुरी, मुरैना व गुना को भी लाभ मिलेगा। जून 2019 में इस मामले को ग्वालियर सासंद विवेकनारायण शेजवलकर ने भी संसद में उठाया था। अब इसकी प्रक्रिया फिर से शुरू हो चुकी है। यह प्रोजेक्ट करैरा के लिए काफी अहम है क्योंकि यहां पर देश का सबसे बड़ा आइटीबीपी का केंद्र स्थित है।
इस नए रेल मार्ग को लेकर जिले के लोग इसलिए भी मांग उठाते रहे हैं क्योंकि यदि श्योपुर का रेल से सीधा जुड़ाव सवाई माधोपुर से होगा तो देश भर के लिए सीधी कनेक्टिविटी मिल जाएगी। वर्ष 2010 में रेल बजट में ग्वालियर-श्योपुर ब्राडगेज प्रोजेक्ट को स्वीकृति दी, वहीं सवाईमाधोपुर-श्योपुर-शिवपुरी-झांसी नई रेलवे लाइन के सर्वे को मंजूरी दी और सर्वे के लिए बजट भी निर्धारित किया गया था। इस प्रोजेक्ट में नई लाइन सवाई माधौपुर से श्योपुर, पोहरी, शिवपुरी, करैरा होते हुए उप्र के झांसी रेल लाइन से जुडन?ी है।
आइटीबीपी को भी मिलेगा लाभ
देश का सबसे बड़ा आइटीबीपी केंद्र करैरा में स्थित हैं। यहां पर आइटीबीपी के देशभर के जवान और अफसर विभिन्ना प्रशिक्षणों के लिए आते हैं। इस लिहाज से यह लाइन काफी महत्वपूर्ण हो जाती है क्योंकि इससे आइटीबीपी का सबसे बड़ा केंद्र भी देश के कई हिस्सों से बेहतर रूप से जुड़ सकेगा। इससे यहां आने वाले सेना के पदाधिकारियों और जवानों को भी काफी राहत मिलेगी।
इनका कहना है..
इसकी प्रक्रिया चल रही है और इस पर जल्द ही विस्तृत जानकारी दूंगा। हाल ही में जब बैठक हुई थी तब इस मुद्द को उठाया था और संबंधित अधिकारी का इस पर जवाब आना शेष है। इसके लिए पत्र भी लिखा है और उम्मीद है कि जल्द ही इस रेल लाइन का काम शुरू होगा।
- विवेक शेजवलकर, सांसद ग्वालियर
Indian Railways: ईद उल-अज़हा यानी बकरीद के त्योहार को देखते हुए रेलवे फेस्टिवल स्पेशल ट्रेन का संचालन शुरू करने जा रहा है. इन ट्रेनों के चलने से यूपी, बिहार और बंगाल के यात्रियों को फायदा होगा. आइए जानते हैं फेस्टिवल स्पेशल ट्रेन की टाइमिंग और शेड्यूल.
Indian Railways: आगामी ईद उल-अज़हा के त्योहार को देखते हुए यात्रियों की सुविधा के मद्देनजर झाझा, किउल, बरौनी, शाहपुर पटोरी, हाजीपुर के रास्ते हावड़ा एवं गोरखपुर के बीच 03021/03022 हावड़ा-गोरखपुर-हावड़ा फेस्टिवल स्पेशल ट्रेन का परिचालन किया जाएगा.
ट्रेन नंबर और टाइमगाड़ी संख्या 03021 हावड़ा-गोरखपुर फेस्टिवल स्पेशल ट्रेन
...
more...
हावड़ा से दिनांक 07 जुलाई को 23.00 बजे प्रस्थान करके अगले दिन 17.30 बजे गोरखपुर पहुंचेगी. वापसी में गाड़ी संख्या 03022 गोरखपुर-हावड़ा फेस्टिवल स्पेशल ट्रेन गोरखपुर से दिनांक 08.07.2022 को 19.30 बजे प्रस्थान कर अगले दिन 12.35 बजे हावड़ा पहुंचेगी.
इन स्टेशनों पर होगा ठहरावयह फेस्टिवल स्पेशल ट्रेन अप एवं डाउन दिशा में बंडेल, बर्द्धमान, दुर्गापुर, आसनसोल, चितरंजन, मधुपुर, जसीडीह, झाझा, किउल, बरौनी, शाहपुर पटोरी, हाजीपुर, छपरा, सिवान, भटनी एवं देवरिया सदर स्टेशनों पर रुकेगी. इसमें वातानुकूलित तृतीय श्रेणी के 05, शयनयान श्रेणी के 12 तथा साधारण श्रेणी के 02 कोच लगेंगे.
यूपी-बिहार के यात्रियों के लिए गुड न्यूजवहीं, गर्मी की छुट्टियां खत्म होने और स्कूल खुलने के साथ ही लोग अपने कार्यस्थलों की तरफ वापस लौट रहे हैं. ऐसे में ट्रेनों में काफी भीड़ हो रही है. जिसको देखते हुए रेलवे ने यात्रियों की सुविधा के लिए 1 जुलाई से 20 अगस्त तक बापूधाम मोतिहारी के रास्ते पाटलिपुत्र और अयोध्या कैंट के बीच ट्रेन नंबर 03219/03220 पाटलिपुत्र-अयोध्या कैंट-पाटलिपुत्र समर स्पेशल ट्रेन (साप्ताहिक) चलाने का फैसला किया है. 
देखें ट्रेन का टाइम शेड्यूल गाड़ी संख्या 03219 पाटलिपुत्र-आयोध्या कैंट समर स्पेशल 1 जुलाई से 19 अगस्त तक प्रत्येक शुक्रवार को पाटलिपुत्र से 19.40 बजे चलेगी और अगले दिन 06.30 बजे अयोध्या कैंट पहुंचेगी. ऐसे ही वापसी में ट्रेन संख्या 03220 अयोध्या कैंट-पाटलिपुत्र समर स्पेशल 3 जुलाई से 20 अगस्त तक हर शनिवार को अयोध्या कैंट से 20.15 बजे चलकर अगले दिन 09.55 बजे पाटलिपुत्र पहुंचेगी.
Today (20:46) Shatabdi Express rail passenger pays service charge of Rs 50 on tea worth Rs 20 tea, IRCTC faces backlash (zeenews.india.com)
IR Affairs
NR/Northern
0 Followers
1486 views

News Entry# 491157  Blog Entry# 5399029   
  Past Edits
Jul 02 2022 (20:47)
Train Tag: New Delhi - Rani Kamlapati (HabibGanj) Shatabdi Express/12002 added by बिप्लब कागयुगँ/1329476
In an unusual incident, a rail passenger was asked to pay Rs 50 as service charge on a cup of tea worth Rs 20 on Delhi-Bhopal Shatabdi Express train.
- A rail passenger was fuming after being asked to pay Rs 70 for a cup of tea.
- The bill mentioned the price of the tea as Rs 20 on which a service fee of Rs 50 was charged.
-
...
more...
The passenger tweeted the picture where he was charged 250 percent of the price.
While food services are usually expensive on flights and trains, this rail passenger was fuming after being asked to pay Rs 70 for a cup of tea. The passenger was charged a Rs 50 service charge on a Rs 20 cup of tea. Though initially it seemed like a mistake as service charges are usually 5-10 percent of the item purchased, but when the passenger confirmed, it wasn’t. The bill mentioned the price of the tea as Rs 20 on which a service fee of Rs 50 was charged. 
The passenger tweeted the picture of the bill where he was charged 250 percent of the price of the tea on the Delhi-Bhopal Shatabdi Express train. “50 rupees tax on 20 rupees tea, the country's economics has really changed, so far only history has changed!” read the tweet. 
20 रुपये की चाय पर 50 रुपये का टैक्स, सच मे देश का अर्थशास्त्र बदल गया, अभी तक तो इतिहास ही बदला था! pic.twitter.com/ZfPhxilurY— Balgovind Verma (@balgovind7777) June 29, 2022
Though soon his tweet started getting numerous replies but to correct him. One Twitter user replied, “Service charge is not a tax. It remains with the company. This is the same thing, you will find on Patanjali Bills if you have ever shopped from their outlet.”
“IRCTC is a govt organisation. All service charges go to the government. They can’t write tax because people are aware, that’s why it’s written ‘service’, they’re looting people in the name of service. Good that you shared," another Twitterati replied.  
As per a circular by Indian Railways in 2018, if a passenger hasn’t pre-booked his meal while making a reservation on an Express train, then a service charge of Rs 50 will be charged on any food item ordered during the rail journey.
Earlier, the food services were mandatory in trains lie Rajdhani and Shatabdi Express, however, it was made optional in 2017 and passengers were then asked to choose if they want meals to be included in their ticket. Later during Covid-19 pandemic, all the catering services were suspended to avoid any spread of the virus.
Today (19:45) अजमेर समेत 17 शहरों में आज तेज बारिश का अलर्ट:जयपुर में तीन घंटे तक लगातार बरसात; सीकर में रेलवे ट्रैक डूबा (www.bhaskar.com)
Commentary/Human Interest
NWR/North Western
0 Followers
2633 views

News Entry# 491156  Blog Entry# 5398974   
  Past Edits
Jul 02 2022 (19:45)
Station Tag: Sikar Junction/SIKR added by न्यूज अच्छी है चलो इसपर वीडियो बना देता हु/1084688
Stations:  Sikar Junction/SIKR  
गर्मी की मार झेल रहे लोगों का इंतजार खत्म हो गया है। प्रदेश के लगभग पूरे हिस्से में मानसून एक्टिव होने से बीते 24 घंटे से रुक-रुककर बारिश का दौर जारी है। पूर्वी राजस्थान से एंट्री करने वाले मानसून से बीते 24 घंटे में चार इंच से ज्यादा बारिश हुई है। राजधानी सहित पांच जिलों में सबसे अधिक बरसात हुई है।
वहीं, सीकर में रेलवे ट्रैक डूबने से प्रशासन की चिंता बढ़ गई है। हालांकि, अब तक रेल यातायात सामान्य है। जयपुर में लगातार हो रही बारिश के कारण शहर के कई हिस्सों में पानी जमा हो गया है। मौसम केंद्र जयपुर का कहना है कि लगातार बारिश का यह सिलसिला अगले तीन दिन तक जारी रह सकता है।
राजधानी
...
more...
जयपुर की बात करें तो यहां बीती शाम से शुक्रवार दोपहर तक कई हिस्सों में रुक-रुककर बारिश हुई। जयपुर कलेक्ट्रेट पर पिछले 12 घंटे के दौरान 52MM बारिश के बाद शहर सीकर रोड, एमआई रोड समेत कई जगह शहर में पानी भर गया। जयपुर जिले में सबसे ज्यादा 89MM बरसात दिल्ली रोड पर पावटा में हुई। जयपुर शहर में तेज बारिश के बाद माधोराजपुरा, चौंमू, शाहपुरा, बस्सी, नरैना में भी 2 इंच बारिश हुई।
इधर, चूरू, हनुमानगढ़ एरिया में बीती रात हुई तेज हुई। चूरू के राजगढ़ में सबसे ज्यादा 117MM से ज्यादा बारिश हुई। वहीं हनुमानगढ़ के संगरिया में 82MM बारिश हुई। बारिश के संगरिया एरिया में खेत पानी से भरे नजर आए।
आज सुबह भी हनुमानगढ़, चूरू, गंगानगर, बीकानेर में अच्छी बारिश हुई। मौसम केंद्र जयपुर से मिली रिपोर्ट के मुताबिक पिछले 24 घंटे के दौरान सीकर, झुंझुनूं, खेतड़ी, जयपुर के माधोराजपुरा, पावटा, हनुमानगढ़ के संगरिया, दौसा के रामगढ़ पचवाड़ा, चूरू के राजगढ़, बीकानेर के डूंगरगढ़, बारां और अलवर के कोटकासिम में 75MM (3 इंच) या उससे ज्यादा बरसात हुई।
सीकर में रेल पटरियां डूबी, नवलगढ़ रोड पर भरा पानीसीकर जिले में भी आज जबरदस्त बारिश हुई। सीकर शहर में पिछले 24 घंटे के दौरान 85MM बारिश होने से सीकर जंक्शन पर रेल पटरियां पानी में डूब गई। नवलगढ़ रोड पर घुटनों तक पानी भरने के कारण पैदल, टू व्हीलर व छोटे फोर व्हीलर चालकों को आने-आने में परेशानी हुई। सीकर शहर के अलावा फतेहपुर में 46, श्रीमाधोपुर में 43, नीमकाथाना में 41 और दांतारामगढ़ में 34MM बारिश हुई।
अब आगे क्या?जयपुर मौसम केन्द्र ने आज टोंक, कोटा, बूंदी, अजमेर, भीलवाड़ा, राजसमंद, अलवर, बांसवाड़ा, बारां, भरतपुर, धौलपुर, चित्तौड़गढ़, दौसा, सवाई माधोपुर, उदयपुर, सिरोही, प्रतापगढ़ जिलों में भारी बारिश की चेतावनी जारी करते हुए इन जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है।
2 और 3 जुलाई को अजमेर, भरतपुर, सीकर, धौलपुर, करौली, कोटा, बूंदी, बारां, बांसवाड़ा, डूंगरपुर, सवाई माधोपुर समेत कई जिलों में तेज बारिश का अलर्ट जारी किया है। 4 जुलाई से राज्य में बारिश का दौर धीमा पड़ सकता है।
इन एरिया में हुई 2 इंच से ज्यादा बरसात
राजस्थान में पहली बार मानसून की नए रास्ते से एंट्री: अब तक 11 जिलों में हुआ एक्टिव; जून में ही सामान्य से ज्यादा बारिश
स्थानीय शिल्पकार और हथकरघा के उत्पाद काफी अच्छे होते हैं लेकिन पैसे के अभाव में कई बार कारीगर अपने उत्पादों का विज्ञापन पर ज्यादा खर्चा नहीं कर पाते। इस कारण उनके अच्छे उत्पाद स्थानीय लोगों की जानकारी में नहीं आते।
जींद, जागरण संवाददाता। स्थानीय उत्पादों को देश भर में लोकप्रिय बनाने के उद्देश्य से एक स्टेशन एक योजना के तहत उत्पादों की बिक्री के लिए जींद जंक्शन पर स्टाल लगाए जाएंगे। रेलवे ने जींद जंक्शन पर स्टाल लगाने के लिए आवेदन निकालते हुए रेलवे अधिकारियों से संपर्क बनाने के लिए अपील की है। इससे शिल्पकार और हथकरघा को अपने उत्पाद बेचने और यात्रियों को दिखाने का मौका मिलेगा। साथ ही वह अपने उत्पाद का विज्ञापन भी कर सकेंगे।
लोकप्रिय
...
more...
बनाने के लिए एक स्टेशन एक उत्पाद के तहत जंक्शन पर लगाए जाएंगे स्टाल
रेलवे जंक्शन पर स्टाल लगाने से खास से खास उत्पादों की जानकारी मिलेगी। ट्रेन में यात्रा करने वाले यात्री खरीदारी भी कर सकेंगे। इस योजना के तहत स्थानीय कारीगरों को अपने उत्पादों के प्रचार प्रसार करने में मदद मिलेगी। स्थानीय कारीगर अपने उत्पादों को वैश्विक पहचान दिलाने में कारगर होंगे। छोटे और मध्यम वर्ग के उद्यमों को इस योजना के तहत बढ़ावा मिलेगा और रोजगार सृजन के साथ-साथ उत्पाद में वृद्धि होगी। इससे क्षेत्र की अर्थव्यवस्था में मजबूती मिलेगी।
गौरतलब है कि स्थानीय शिल्पकार और हथकरघा के उत्पाद काफी अच्छे होते हैं, लेकिन पैसे के अभाव में कई बार कारीगर अपने उत्पादों का विज्ञापन पर ज्यादा खर्चा नहीं कर पाते। इस कारण उनके अच्छे उत्पाद स्थानीय लोगों की जानकारी में नहीं आते। ऐसे में रेलवे स्थानीय उत्पादों को पहचान दिलवाने के लिए यह योजना लेकर आया है। जंक्शन पर स्टाल लगाने के बाद ट्रेन में यात्रा करने वाले यात्रियों स्टाल से सामान खरीदेंगे तो एक ओर स्थानीय कारीगरों को पहचान मिलेगी और उनकी आमदनी में इजाफा होगा।
मांगे जाएंगे आवेदन
स्थानीय उत्पादों को लोकप्रिय बनाने के उद्देश्य से रेलवे द्वारा एक स्टेशन एक उत्पाद योजना शुरू की है। इसके जींद जंक्शन पर प्रमुख उत्पादों के स्टाल लगाए जाएंगे। इसके लिए इच्छुक व्यक्ति आवेदन कर सकता है। 15 दिन तक जंक्शन तक स्टाल लगाए जाने हैं। इससे स्थानीय चीजों की लोकप्रियता बढ़ेगी।
--संजीव सहगल, सीएमआइ, जींद जंक्शन।
Page#    461709 news entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy